You are here
Home > अवध न्यूज़

     गरीब किसानों को बीज उपलब्ध कराने के सीएम ने दिए निर्देश

akhilesh

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश में सूखे की स्थिति के मद्देनजर बीजों के वितरण की वर्तमान व्यवस्था में गरीब किसानों को अधिक से अधिक संख्या में बीज उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, उन्हांेने गांवों में किसानों से सम्पर्क कर उनका पंजीकरण कराने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि बीज वितरण में शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश में सूखे की स्थिति को देखते हुए किसानों की सहायता के लिए हर सम्भव कदम उठाए जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि सूखे कि दशा में यह प्रयास किया जाना चाहिए कि कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक किसानों को मिल सके। उन्होंने बीज वितरण की वर्तमान व्यवस्था में सुधार लाने के भी निर्देश दिए।श्री यादव ने राज्य सरकार द्वारा किसानों को दी जा रही सुविधाओं का रेडियो एवं अन्य साधनों के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिए। बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि जो किसान पूरा मूल्य नकद देने की स्थिति में नहीं है उनके लिए यह व्यवस्था की जा चुकी है कि वे मात्र 1600 रुपए नकद तथा एक माह के बाद की स्थिति का पोस्ट डेटेड चेक देकर बीज प्राप्त कर सकते हंै। जिन किसानों के पास चेक बुक नहीं है, उन्हें चेक बुक अथवा लीफ दिलाने में कृषि विभाग के फील्ड स्तरीय अधिकारियों द्वारा सहायता उपलब्ध करायी जाएगी। बुन्देलखण्ड के किसानों को खास तौर से तत्काल सहायता पहुंचाने के लिए नई योजानाएं बनाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में फार्म पाॅण्ड (खेत, तालाब) की योजना भी चलायी जाएं, जिससे वहां सिंचाई के संसाधन भी उपलब्ध हो सकंे। उन्होंने कृषि एवं सम्बन्धित विभागों द्वारा कृषकों को विविधीकरण हेतु प्रोत्साहित किये जाने की हिदायत दी, जिससे उनकी आमदनी में बढ़ोत्तरी हो सके।  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने वर्ष 2015-16 को किसान वर्ष के रूप में घोषित किया है। इस वर्ष 23 दिसम्बर, 2015 को किसान दिवस के अवसर पर विभिन्न फसलों में सर्वाधिक उत्पादकता प्राप्त करने वाले किसानों को उनके द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य के 50 जनपदों को सूखाग्रस्त घोषित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने सूखाग्रस्त घोषित जनपदों में किसानों को राहत पहुंचाने के लिए यह भी फैसला लिया है कि 31 मार्च, 2016 तक इनके अवशेष राजस्व देयों की वसूली स्थगित रहेगी। इस दौरान कृषि ऋण से सम्बन्धित देयों की वसूली के लिए किसानों के खिलाफ उत्पीड़न सम्बन्धी कोई कार्यवाही नहीं जाएगी।

अमिताभ ने आजम खां पर मुकदमा दर्ज कराया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के निलंबित आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने सोमवार को कद्दावर मंत्री आजम खां के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। आजम ने रविवार को रामपुर में कहा था कि अमिताभ ठाकुर के नाम पर कलंक हैं। उन्होंने केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी की मातृ संस्था राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) पर भी अभद्र टिप्पणी की थी। आईपीएस अमिताभ ने सीजेएम लखनऊ के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है। अदालत में उनका बयान 15 दिसंबर को दर्ज होगा। आजम खां ने रविवार को रामपुर में आईपीएस अधिकारी ठाकुर व आरएसएस के खिलाफ अभद्र भाषा और शब्दों का प्रयोग किया था। इससे दुखी ठाकुर ने आजम पर पलटवार किया था और अपनी तीखी प्रतिक्रिया दर्ज कराई थी। सोमवार को ठाकुर ने इसकी शिकायत सीजेएम लखनऊ के समक्ष दर्ज कराई है। सीजेएम हितेंद्र हरि ने शिकायत को परिवाद के रूप में दर्ज कर लिया है और यह आदेश भी दिया है कि सीआरपीसी की धारा 200 के तहत बयान दर्ज करने के लिए 15 दिसंबर को अमिताभ ठाकुर अदालत में उपस्थिति रहें। ठाकुर ने बताया कि खां ने व्यक्तिगत टिप्पणी के अतिरिक्त संघ पर भी अमर्यादित टिप्पणियां कीं। आरएसएस से जुड़ाव के कारण उन्हें संघ पर होने वाली अनुचित टिप्पणी से दुख हुआ। यही वजह है कि उन्होंने आईपीसी की धारा 500 के तहत मानहानि और धारा 153, 153ए, 504, 505 के तहत (समाज में विद्वेष फैलाने वाला अपराध) के तहत मुकदमा दर्ज करने का प्रार्थनापत्र दिया है। आरएसएस से जुड़े अमिताभ ठाकुर उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव पर फोन पर धमकाने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने के कारण चर्चा में रहे हैं।

Top