Friday, May 24, 2019
Home > Crime > मड़ियांव में संदिग्ध हालात में विवाहिता जली

मड़ियांव में संदिग्ध हालात में विवाहिता जली

सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, हालत नाजुक
मायके वालों ने पति समेत पांच ससुरालीजनों पर जलाने का लगाया आरोप, रिपोर्ट दर्ज
लखनऊ Ap3 – मड़ियांव मोबुल्लापुर के कसाई बाड़ा मोहल्ले में एक विवाहिता संदिग्ध हालात में जल गई। जिसे गंभीर हालत में सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया हैं। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। मायके वालों ने ससुरालवालों पर दहेज की मांग पूरी न होने पर जला कर मारने के प्रयास का आरोप लगाया है। पुलिस ने पति समेत पांच ससुरालीजनों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।
इंस्पेक्टर मड़ियांव संतोष कुमार सिंह ने बताया कि अलीगंज निवासी खुशबू (27) की शादी करीब एक साल पहले मोहिबुल्लापुर के कसाई बाड़ा मोहल्ला निवासी अंसार के साथ हुई थी। अंसार पुताई का काम करता है। दोनों से एक पांच महीने का बेटा भी है। खुशबू के भाई आलम का आरोप है कि शादी के बाद कम दहेज मिलने का आरोप लगाकर ससुरालीजनों द्वारा खुशबू को प्रताड़ित किया जा रहा था। प्रताड़ना से तंग आकर करीब पांच महीने से खुशबू मायके में रह रही थी। भाई के मुताबिक इसके बावजूद कुछ संभ्रांत लोगों के समझाने बुझाने पर 28 जनवरी को उसे दोबारा ससुराल भेज दिया गया था। भाई के मुताबिक खुशबू ने अस्पताल में पुलिस को बयान दिया है कि शुक्रवार की रात वह कमरे में सो रही थी। तभी उसके ऊपर कुछ ज्वलनशील पदार्थ डाला गया। जिससे वह जग गई। तभी उसके पति अंसार ने माचिस से आग लगा दिया। पीड़िता ने शोर मचाकर लोगों से मदद की गुहार लगाई जिसके बाद जैसे तैसे आग बुझाई जा सकी। जिसे गंभीर हालत में स्थानीय लोगों की मदद से ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया। हालांकि उसके पति का कहना है खुशबू ने स्वयं ही आग लगाई है। बुझाने के प्रयास में वह भी झुलस गया। जिसे बलरामपुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहीं खुशबू ने आग लगाने के दौरान पति के हाथ झुलसने की बात कही है। खुशबू का इलाज कर रहे डॉ. अभिषेक पांडेय का कहना है कि पीड़िता करीब 70 फीसदी जल गई है। उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं सीओ अलीगंज दीपक कुमार ने बताया कि मायके पक्ष की तहरीर पर पति अंसार,ससुर इस्माइल, सास और दो देवर सुहैल व उवैश के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।