Friday, May 24, 2019
Home > Top Photos > बुजुर्ग हमारे ऊपर भार नहीं भाग्य हैं

बुजुर्ग हमारे ऊपर भार नहीं भाग्य हैं

बुजुर्ग हमारे ऊपर भार नहीं भाग्य हैं

– सम्मान समारोह में बुजुर्गों को किया सम्मान

लखनऊ।
जीवन ज्योति हास्य योग लाफिंग क्लब व खुशहाल स्वास्थ्य सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को इंदिरा नगर सेक्टर 18 स्थित स्मिता पार्क में स्वच्छता अभियान, सड़क सुरक्षा व पर्यावरण संरक्षण पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर बुजुर्गों को सम्मानित भी किया गया।
संस्थान के अध्यक्ष हास्य योगी शिवराम मिश्र ने कहा कि हमेशा बुजुर्गों का आदर व सम्मान करना चाहिए। बुजुर्ग हमारे ऊपर भार नहीं भाग्य होते हैं। समाज में चरित्रवान बुजुर्ग एक चलती फिरती पुस्तकालय होते हैं। हमें इनके अनुभवों का लाभ लेना चाहिए। वही भोजपुरी कवि कृष्णानंद राय ने अपनी रचना ‘पेड़ लगाकर हरियाली से पर्यावरण बचाना है, नदियों का जल स्वच्छ रहे साफ-सफाई अपनाना है, से पर्यावरण संरक्षण व स्वच्छता का संदेश दिया। वही ‘गति धीमी कर लीजिए जहां कहीं हो मोड़, सड़क सुरक्षा भाग्य पर नहीं दीजिए छोड़’ से यातायात नियमों के पालन की भी अपील की। समारोह में वयोवृद्ध एच रहमान, एमयू खान, गुलाबचंद वर्मा, बालगोविंद शुक्ला, सुंदर सावलानी, सुग्रीव प्रसाद मौर्य, अमरीश मिश्रा, मधु श्रीवास्तव, वीरेंद्र सिंह नंदू, रामवृक्ष यादव, बनारसी प्रसाद, पीएन मेहरोत्रा, कृष्णानंद राय, संतराम शर्मा, एस एम तिवारी, केसरी प्रसाद शुक्ला, संत दिनेशानंद, आनंद महाराज को माल्यार्पण, अंग वस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सुग्रीव मौर्य, डीएम शुक्ल, राम सिंह, राम मनोहर शुक्ला, श्रीराम मिश्रा, अभिषेक, आशुतोष राजन, कृष्णा मिश्रा, मधु, राम अवतार सिंह, मदन पांडेय समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे