Saturday, August 24, 2019
Home > Top Photos > बच्चों में अच्छे संस्कार डालना हमारी परंपरा

बच्चों में अच्छे संस्कार डालना हमारी परंपरा

सेन्ट्रल एकेडमी जानकीपुरम में दादा – दादी व नाना – नानी दिवस का आयोजन

लखनऊ Ap3 – जानकीपुरम विस्तार स्थित सेन्ट्रल एकेडमी के प्रांगण में रविवार को दादा दादी व नाना नानी दिवस का आयोजन किया गया। बच्चों ने रंगारंग प्रस्तुतियों से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस मौके पर प्रतियोगिता में सफल बुजुर्गों को सम्मानित किया गया।


कार्यक्रम का शुभारंभ दीप-प्रज्ज्वलन से हुआ। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण विद्यालय के नन्हे-मुन्ने बच्चे रहे। छूना है आसमान…, स्वच्छता की ज्योति जागी रे… व चम चम चमकेगा इंडिया.. गीतो पर मनमोहक नृत्य प्रस्तुति दी। स्कूल के चेयरमैन संगम मिश्रा ने कहा कि बच्चों में अच्छे संस्कार डालना और बुरे संस्कारों से बच्चों को बचाये रखना हमारी परंपरा रही है। संयुक्त परिवार इसमे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लेकिन अब एकल परिवार का चलन बढ़ा है। उन्होंने कहा कि बच्चे स्वभाव से ही सीखने की चाह में रहते हैं। उनको जहां से कुछ भी सीखने को मिल जाए वहीं से सीख लेते हैं।भले वह अच्छा हो या बुरा। पहले समय में दादा-दादी, ताऊ-चाचा, बुआ आदि घर के लोग बच्चों में कुछ न कुछ अच्छे संस्कार डालते रहते थे। दादी रात को कहानी सुनाकर बच्चों को शिक्षा देती थी।

पूजा-पाठ, गीता पाठ, रामायण, आध्यात्मिकता और धार्मिक बातों की शिक्षा दी जाती थी। प्रधानाचार्या आराधना पाण्डेय ने कहा कि स्कूल में बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार भी दिए जाते हैं। इस मौके पर बच्चों के बनाये मॉडल भी आकर्षक का केंद्र रहे।

error: Content is protected !!