Sunday, July 21, 2019
Home > Crime > वकीलों ने सीआरपीएफ की महिला कर्मी व उसके इंस्पेक्टर पति को थाने में पीटा

वकीलों ने सीआरपीएफ की महिला कर्मी व उसके इंस्पेक्टर पति को थाने में पीटा

जानकीपुरम थाने की घटना, पुलिस ने करवाया समझौता

लखनऊ संवाददाता –  जानकीपुरम में कार का साइड शीशा बाइक में छू जाने के बाद विवाद इतना बढ़ गया कि वकील भेष में दर्जनों युवक थाने पहुंच गए। जहां कार सवार सीआरपीएफ की महिला  कर्मी व इसके इंस्पेक्टर पति की थाना परिसर में ही जमकर धुनाई कर दी। किसी तरह पुलिस कर्मियों ने वकीलों के चंगुल से पीड़ित दंपती को छुड़ाया। जिसके बाद करीब दो घंटे तक थाने पर चली पंचायत के बाद दोनों पक्षों के बीच सुलह समझौता हो गया।

सूत्रों के मुताबिक सीआरपीएफ में क्लर्क के पद पर कार्यरत एक महिला कर्मी सीआरपीएफ में ही इंस्पेक्टर पद पर तैनात अपने पति के साथ शुक्रवार देर शाम कार से कहीं जा रही थी। 60 फिटा रोड पर कार का साइड शीशा एक बाइक से टकरा गया। इस पर बाइक के पीछे सीट पर बैठी महिला के हाथ से पॉलीथिन नीचे गिर गई। जिसके कारण सड़क पर बवाल होने लगा। जिसकी सूचना किसी ने यूपी-100 पर दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को जानकीपुरम थाने ले आई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तभी बाइक सवार युवक ने किसी को कॉल किया। कुछ ही देर में वकीलों की भेषभूषा में करीब 30-40 लोग थाने में आ धमके। आरोप है कि थाना परिसर में ही कार सवार दंपती की पिटाई कर दी। जिससे थाने में हंगामा होने लगा। विवाद बढ़ने पर सर्किल के एक थाने के कोतवाल मौके पर पहुंचे और पंचायत के बाद दोनों पक्षों में सुलह समझौता करवा दिया। इस मामले में इंस्पेक्टर जानकीपुरम राजकुमार का कहना है कि साइड शीशा लगने के बाद विवाद हुआ था। कुछ वकील आक्रामक हो गए थे। लेकिन इस मामले में किसी पक्ष की ओर से तहरीर नहीं दी गई है। दोनों पक्ष अपनी मर्जी से सुलह समझौता कर थाने से चले गए।