Sunday, May 26, 2019
Home > Top Stories > खराब उत्पाद के प्रचार पर सेलेब्रिटी भी दोषी : राजऋषि शुक्ल

खराब उत्पाद के प्रचार पर सेलेब्रिटी भी दोषी : राजऋषि शुक्ल

विश्व उपभोक्ता दिवस का आयोजन

लखनऊ Ap3 News – अगर कोई सेलिब्रेटी किसी उत्पाद की पूर्ण जानकारी किये बगैर उसका प्रचार करता हैं तो उत्पाद के खराब होने पर वह भी बराबर का दोषी हैं। इसके लिए उसे सजा भी दी जा सकती है। यह बात जिला उपभोक्ता न्यायालय के न्यायिक सदस्य राजऋषि शुक्ल ने विश्व उपभोक्ता दिवस के अवसर पर विपणन एवं निरीक्षण निदेशालय की ओर से शुक्रवार को अलीगंज स्थित एक होटल में आयोजित उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम में कही। कार्यक्रम में वक्ताओं ने उपभोक्ताओं को उनके अधिकार की जानकारी दी।
न्यायिक सदस्य श्री शुक्ल ने कहा कि जब तक उपभोक्ता जागरुक नहीं होंगे तब तक वे अपने अधिकार की रक्षा नहीं कर पायेंगे और व्यवसायियों के हाथों ठगे जायेंगे। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता के अधिकार की रक्षा के लिए सरकार ने कानून बना रखे हैं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता सामान खरीदने समय कैशमेमो दुकानदार से अवश्य लें। इसी कैशमेमो के आधार पर सेवा में त्रुटि अथवा गुणवत्ता की कमी का मुकदमा फोरम में दायर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि खरीदी गई सामानों का रसीद मांगना उपभोक्ता का अधिकार है। फोरम में मुकदमा दायर करने की प्रक्रिया की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि सादे कागज पर भी शिकायत लिख कर इस न्यायालय में मुकदमा दर्ज किया जा सकता है। 20 लाख रुपये तक का विवाद की सुनवाई फोरम में की जाती है। उससे अधिक राशि के विवाद का मुकदमा राज्य आयोग में दायर किये जाने का प्रावधान है। फोरम में दर्ज किये गये मुकदमे का निर्णय एक निश्चित अवधि के भीतर कर दिया जाता है। एडीजी पीआईबी अरिमर्दन सिंह ने
कहा कि शासन द्वारा 1986 में उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम का गठन कर दिया गया है, लेकिन इसका पूर्ण लाभ तभी प्राप्त हो सकेगा जब उपभोक्ता स्वयं जागरूक बनेगा। वरिष्ठ विपणन अधिकारी डॉ यूएस शुक्ल ने कहा कि उपभोक्ता की जागरूकता ही उसके हितों की संरक्षक है उपभोक्ताओं को जागरूक बनाने के लिए शासन स्तर से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इस मौके पर
क्षेत्रीय एगमार्क प्रयोगशाला द्वारा सरल मिलावट परीक्षण का भी प्रदर्शन किया गया।