Saturday, August 24, 2019
Home > Events > “गौरैया संरक्षण अभियान” “दाना-पानी अभियान”

“गौरैया संरक्षण अभियान” “दाना-पानी अभियान”

विश्व गौरैया दिवस पर दाना पानी अभियान की हुई शुरुआत

लखनऊ Ap3 news–  आज शहर में जहां पेड़ काटे जा रहे और समाप्त होते जा रहे हैं, पोखर और तालाब सुख चुके हैं व सबसे बड़ी समस्या गर्मियों में इन पक्षियों के लिए पानी और दाने की है। ऐसे में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी ”विश्व गौरैया दिवस” के मौके पर बुधवार को दाना पानी अभियान की शुरुआत गौ-गौरैया संरक्षण समिति के नगर अध्यक्ष आसिम मार्शल के द्वारा चौक लोहिया पार्क से शुरु की गई । जिसका उद्देश्य लखनऊ महानगर के प्रत्येक पार्क में दाना-पानी अभियान के तहत पेड़ों पर यह दानपात्र बांध कर पार्क में आने वाले लोगों को यह जागरूक करना है और प्रण लेना है कि वह इन दानपात्र में दाना व पानी डालते रहेंगे।


दाना-पानी अभियान की शुरुआत चौक लोहिया पार्क से हुई जिसमें गो-गोरिया संरक्षण समिति के अध्यक्ष आसिम-मार्शल जी का सहयोग कई और समाजसेवी संस्थाओं ने किया जिसमें शुभ संस्कार समिति के महामंत्री व गोमती सफाई अभियान से जुड़े रिद्धि किशोर गौड़ , लखनऊ सर्राफा एशोसिएशन के महामंत्री प्रदीप अग्रवाल, पत्रकार परवेज अख्तर, अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पदम जैन, उत्तर प्रदेश युवा उद्योग व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष रूप यादव, फराज़ खान, लखनऊ व्यापार मंडल से अभिषेक खरे, उत्तर प्रदेश टिंबर एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहनीष त्रिवेदी, समाजसेवी सलमान हैदर, महिला उद्योग व्यापार मंडल से अनीता अग्रवाल, हम फाउंडेशन से महिलाओं को निशुल्क प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से मदद करने वाली सबिहा फातमा, न्यूज़पेपर हॉकर एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप कुमार, प्रसपा से अवनीत कौर के साथ साथ लोहिया पार्क मे आने वाले प्रमुख लोगो मे प्रमुख समाजसेवी अनिल कपूर जी, योग गुरु टी. एन. मिश्रा जी, भोजपुरी गायक व समाज प्रेरक कृष्णानन्द राय , आशीष अग्रवाल, भाजपा संस्कृति प्रकोष्ठ के संयोजक विष्णु त्रिपाठी उर्फ लंकेश, पार्षद रमेश कपूर बाबा , रियल एस्टेट कारोबारी रज्जन खान जी, जूडो कराटे एसोसिएशन से वैभव स्वर्णकार व संतोष कुमार पारख व्यापार संघ के प्रदेश महामंत्री मज़हर अब्बास जी रहे।


सब ने मिलकर पार्क में मौजूद सैकड़ों लोगों को दाना-पानी के लिए दान पात्र वितरित किए । सबसे वचन लिया कि वह अपनी छत पर व खुले स्थान पर इन पात्रों को रखेंगे व इनमें दाना व पानी रोज़ डालेंगे ताकि पक्षियों को दाना पानी मिल सके जिससे कोई भी पक्षी भूख व प्यास से न मरे। अन्त में गौरय्या चालीसा पढ़कर कार्यक्रम की समाप्ति इस प्रण के साथ हुई कि प्रतिदिन सुबह किसी ना किसी पार्क में दाना पानी अभियान चलता रहेगा ।

error: Content is protected !!