Thursday, April 9, 2020
Home > Top Stories > अपहरण नहीं, प्रेमिका से मिलने गया था किशोर

अपहरण नहीं, प्रेमिका से मिलने गया था किशोर

प्रेमिका के घर वालों ने की थी पिटाई, आरोपित पुलिस कर्मियों की भूमिका की हो रही जांच
लखनऊ Ap3 news –मड़ियांव में किशोर का अपहरण नहीं किया गया था। बल्कि प्रेमिका से मिलने जाने पर उसकी पिटाई की गई थी। हालांकि यूपी-100 के सिपाहियों की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए पुलिस पड़ताल कर रही है। मधुवन विहार आईआईएम रोड निवासी रामसेवक गुप्ता परिवहन निगम अवध डिपो में चालक हैं। रामसेवक की तरफ से बुधवार को थाने पर लिखाई गई रिपोर्ट के मुताबिक उनका बेटा राहुल गुप्ता (17) मंगलवार रात करीब 9:30 बजे टाइल्स दुकानदार को बकाया रकम देने जा रहा था। तभी लग्जरी कार सवार प्रापर्टी डीलर ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर राहुल का अपहरण कर लिया था। राहुल के मुताबिक जिसके बाद उसे एक घर मे बंधक बनाकर पिटाई की गई। उसके पास मौजूद करीब 11,300 रुपये व मोबाइल लूट लिया गया। मौके पर पहुंचे यूपी-100 के दो सिपाहियों ने उसे सरकारी इनोवा से आईआईएम रोड पर फेंक कर फरार हो गए थे।इंस्पेक्टर मड़ियांव संतोष कुमार सिंह ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर घटना की जांच शुरू की गई तो सामने आया कि पीड़ित राहुल मंगलवार देर रात प्रेमिका से मिलने उसके घर गया था। जहां घरवालों ने उसे पकड़ लिया था। जिसके बाद उसकी पिटाई कर दी। भागने के प्रयास में राहुल जीने से गिर गया था। यूपी-100 की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। लेकिन लोकलाज के चलते राहुल के खिलाफ किसी ने शिकायत करने से मना कर दिया। वहीं राहुल भी गलती पर माफी मांगने लगा। जिसके बाद उसे छोड़ दिया गया था। इंस्पेक्टर का कहना है कि फिलहाल सिपाहियों पर लगे आरोपों की जांच की जा रही है।

error: Content is protected !!