Thursday, October 29, 2020
Home > Health > सुस्त जीवन शैली व प्रदूषण मधुमेह का मुख्य कारक : डॉ मक़बूल अहम

सुस्त जीवन शैली व प्रदूषण मधुमेह का मुख्य कारक : डॉ मक़बूल अहम

विश्व मधुमेह दिवस

लखनऊ। संवाददाता
सुस्त जीवन शैली तथा दिनों दिन बढ़ता प्रदूषण मधुमेह का मुख्य कारक है। लखनऊ में लगभग 9 प्रतिशत जनसंख्या मधुमेह से ग्रसित है। विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर केन्द्रीय यूनानी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान में
बुधवार को आयोजित समारोह में यह बात उपनिदेशक डा. मकबूल अहमद खां ने कही। इस अवसर पर डॉ खान ने मधुमेह की निःशुल्क जांच के शिविर का उद्घाटन भी किया।

देश में मधुमेह के रोगियों की बढ़ती हुई संख्या को खतरनाक बताते हुए डॉ खान ने कहा कि उत्तर प्रदेश के जिला गाजियाबाद में लगभग 11 प्रतिशत जनसंख्या व कानपुर में लगभग 10 प्रतिशत जनसंख्या मधुमेह से पीड़ित है। अब आवश्यकता इस बात की है कि यूनानी चिकित्सा के विशेषज्ञ आगे आयें और प्राकृतिक जड़ी बूटियों से इस बीमारी के इलाज मे रोगियों की सहायता करें। डा. खान ने जानकारी दी कि अस्पताल की जनरल ओ.पी.डी में भी मधुमेह का इलाज होता है इसके अतिरिक्त संस्थान में मधुमेह पर शोध भी हो रहा है।