Friday, May 24, 2019
Home > Crime > दरोगा के बेटे की छेड़खानी से परेशान युवती ने दो मंजिला से लगाई छलांग, दोनों पैर टूटे

दरोगा के बेटे की छेड़खानी से परेशान युवती ने दो मंजिला से लगाई छलांग, दोनों पैर टूटे

-युवती को गंभीर हालत में बलरामपुर अस्पताल में करवाया गया भर्ती, आरोपित गिरफ्तार

लखनऊ ap3 news- कल्याणपुर में दरोगा के बेटे की छेड़छाड़ से परेशान एक युवती की थाने में भी सुनवाई न होने पर हताश होकर उसने शुक्रवार देर शाम घर के दो मंजिल से नीचे छलांग लगा कर आत्महत्या का प्रयास किया। जिससे उसके दोनों पैर टूट गए हैं। कमर व शरीर के अन्य हिस्सों में भी गंभीर चोटें आईं हैं। पुलिस ने पीड़ित युवती के पिता की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़ित छात्रा के पिता इंटेलिजेंस विभाग में कार्यरत हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही है। आरोप है कि कल्याणपुर निवासी व पुलिस विभाग में दरोगा के पद पर तैनात रामनरेश यादव का बेटा राज कुमार कई महीनों से उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ कर परेशान कर रहा था। पीड़ित युवती बुधवार शाम ममेरे भाई के साथ कोचिंग जाने के लिए खुर्रमनगर चौराहे पर भाई का इंतजार कर रही थी। तभी आरोपित राजकुमार वहां कार से आ धमका और उसे जबरन कार में घसीट कर अपहरण करने का प्रयास करने लगा। इसी बीच युवती का ममेरा भाई भी आ गया। जिसके बाद भाई बहन आरोपित से भिड़ गए। सरेराह युवती को संघर्ष करता देख राहगीर बचाव में दौड़े। जिसके बाद आरोपित धमकी देते हुए भाग निकला।

इंदिरानगर पुलिस ने नहीं की थी सुनवाई

युवती के पिता के मुताबिक बेटी से घटना की सूचना पाकर वह मौके पर पहुंचे और बेटी को साथ लेकर खुर्रमनगर पुलिस चौकी गए। जहां आरोप है कि हेड कॉन्स्टेबल के बेटे का नाम सुनकर चौकी पर मौजूद एक दरोगा ने मामला फर्जी बता कर पीड़ित परिवार को चौकी से चलता कर दिया। शुक्रवार को युवती व उसके पिता सीओ गाजीपुर के कार्यालय मदद मांगने के लिए गए। यहां भी उन लोगों की सीओ से मुलाकात नहीं हो सकी।

पुलिस से मदद न मिलने पर हताश हो गई थी युवती

पीड़ित युवती के परिवारीजनों के मुताबिक पुलिस से मदद न मिलने पर और खुर्रमनगर पुलिस चौकी पर पिता व स्वयं उसके साथ हुए बर्ताव से युवती काफी आहत थी। उधर आरोपित द्वारा अपहरण के प्रयास को लेकर भी वह काफी डर गई थी। जिसके कारण वह हताश थी। परिवारीजनों के मुताबिक काफी देर तक युवती खुद को कमरे में ही कैद रखा। किसी से बात करने में कतराती थी। देर शाम वह घर की दूसरी मंजिल पर पहुंच कर नीचे कूद गई।जिससे उसके दोनों पैर टूट गए। कमर व शरीर के अन्य हिस्सों में भी चोटें आईं हैं।

वर्जन

युवती के पिता की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है और पूरे प्रकरण की जांच शुरू कर दी गई है।

अमरनाथ विश्वकर्मा, थाना प्रभारी इंदिरानगर