Friday, May 24, 2019
Home > Top Stories > रूद्राक्ष के पौधे का रोपण कर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

रूद्राक्ष के पौधे का रोपण कर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

-धरती मां की सेहत का रखो ख्याल, तभी होगा संसार खुशहाल- स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज
-विश्व पृथ्वी दिवस पर छात्रों ने चित्रकला के माध्यम से पृथ्वी और पर्यावरण बचाओ का दिया संदेश
ऋषिकेश Ap3news- विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर परमार्थ निकेेतन आश्रम के परमाध्यक्ष, गंगा एक्शन परिवार के प्रणेता एवं ग्लोबल इण्टरफेथ वाश एलायंस के संस्थापक पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने ऋषिकेश रेलवे स्टेशन पर आये वाॅटर स्कूल, स्वरासकी व विभिन्न विद्यालयों से आये छात्र व छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण के लिये प्रेरित किया।
विश्व पृथ्वी दिवस के कार्यक्रम का शुभारम्भ परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज, जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव साध्वी भगवती सरस्वती जी, ऋषिकेश की महापौर  अनिता ममगाईं , स्वामिनी अदित्या नन्दा जी, सुश्री गंगा नन्दिनी त्रिपाठी, अनिल शर्मा व अन्य गणमाण्य अतिथि, ऋषिकेश रेलवे स्टेशन के अधिकारीगण के द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।
स्वामी जी महाराज की प्रेरणा से परमार्थ निकेतन, गंगा एक्शन परिवार और ग्लोबल इण्टरफेथ वाश एलांयस (जीवा) के संयुक्त तत्वाधान में ऋषिकेश रेलवे स्टेशन परिसर में स्वच्छता रैली व साफ सफाई व स्वास्थ्य के लिए लोगों को जागरुक करने के लिए ऋषिकेश रेलवे स्टेशन की दीवारों और बैंचों पर पेंटिंग बनाने का आयोजन किया गया। जिसमें छात्रों द्वारा राष्ट्रीय पुष्प, पशु, वृक्ष, सौरमंडल, नक्षत्रशाला, सूर्य और दिशाओं के ज्ञान आदि विषयों को चित्रित किया गया। स्वच्छता रैली में लोगों को जोड़ने हेतु स्वच्छता नारे, स्वच्छता बैनर, झण्डे लेकर स्कूली छात्रों ने स्वच्छता जन जागरण रैली निकाली गयी।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर आये छात्र-छात्राओं व नागरिक जनों को संकल्प करवाया कि ’हम सब मिलकर विश्व को खुले में शौच से मुक्त बनायें, स्वच्छ गांव या शहर बनानें की शुरूआत अपने मुहल्ले से करें, क्योंकि मुहल्ला बदलेगा तो मुल्क बदलेगा, प्लास्टिक आदि का उपयोग बन्द करेंगे, झोला आन्दोलन में सहयोग करेंगे, हर शुभ अवसर जन्मदिन, वैवाहिक वर्षगांठ हर पर्व एवं उत्सव पर पेड़ लगायेंगे, लगाये गये पेड़ों को बचायेंगे।
जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव साध्वी भगवती सरस्वती जी ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण मौसम पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। सबसे बड़ी समस्या शुद्ध पानी और हवा की हो गई है। आज पृथ्वी दिवस है। कहीं गोष्ठी होगी तो कहीं सेमिनार, यह सब चंद लोगों के बीच चर्चाओं में सिमट जाएगा। लेकिन यदि हमें पृथ्वी को बचाना है तो सभी को पर्यावरण की रक्षा का मंत्र लेना होगा। अगर हम अभी भी जागरूक नहीं हुए और बढ़ते प्रदूषण पर काबू करने के प्रयास नहीं किए तो मानव जीवन के अस्तित्व पर ही संकट आ जाएगा।
अनिता ममगाईं ऋषिकेश की महापौर ने कहा कि पृथ्वी को सबसे ज्यादा खतरा प्लास्टिक से हो रहा है। इसके प्रयोग से कई दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। इस बार पृथ्वी दिवस की थीम प्लास्टिक प्रदूषण की समाप्ति ही रखी गई है। प्लास्टिक ऐसा तत्व है जो नष्ट नहीं होता है और पृथ्वी की उर्वरा शक्ति को लगातार नष्ट करता है। इसके साथ यह जीव पशुओं के लिए खतरनाक है। प्लास्टिक और पॉलिथीन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की तैयारी की जा रही है।
स्वामी जी महाराज ने सभी से प्लास्टिक का प्रयोग न करने की अपील की, साथ ही वृहद स्तर पर वृक्षारोपण करने का आह्वान किया।
विश्व पृथ्वी दिवस पर परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज के सान्निध्य में जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव साध्वी भगवती सरस्वती जी, अनिता ममगाईं जी ऋषिकेश की महापौर, स्वामिनी अदित्या नन्दा जी, सुश्री गंगा नन्दिनी त्रिपाठी जी, श्री अनिल शर्मा जी अन्य गणमाण्य अतिथि, ऋषिकेश रेलवे स्टेशन के आधिकारीगण ने वाटर ब्लेसिंग सेरेमनी सम्पन्न की। स्वामी जी ने सभी को पर्यावरण संरक्षण का संकल्प कराया। साथ ही  पर्यावरण संरक्षण का प्रतीक रूद्राक्ष के पौधे का रोपण किया।
 आज की दिव्य गंगा आरती के माध्यम से पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने देश विदेश से आये छात्रों एवं अनुयायियों को ’स्वच्छ ग्रह, स्वस्थ विश्व’ हेतु संकल्प कराया।