Tuesday, October 15, 2019
Home > Crime > अगवा कर पिलाई शराब, फिर पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट

अगवा कर पिलाई शराब, फिर पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट

शराब ठेके के बेसमेंट में किसान को फेंककर चलते बने हमलावर

– कई दिनों से जमीन बेचने का बना रहे थे दबाव, किसान नहीं था तैयार

-भाई ने पांच पर कराया केस, एक हिरासत में, बाकी की तलाश
लखनऊ Ap3news- मडि़यांव इलाके में दबंगों ने एक किसान को अगवा कर लिया। उसे शराब पिलायी। फिर पुश्तैनी जमीन अपने नाम लिखाने की कोशिश की। उसने इंकार किया तो जमकर पिटाई कर दी। बाद में बेहोशी की हालत में शराब ठेके के बेसमेंट में फेंककर चलते बने। परिजनों को मामले की भनक लगी तो वो उसे घर ले गये। उसने परिवार वालों को आपबीती बतायी और दम तोड़ दिया। पुलिस ने मौके पर जाकर जांच-पड़ताल की। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर पीएम में गम्भीर चोटें आने से मौत होने की बात सामने आयी है। मृतक के भाई की तहरीर पर पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस ने एक आरोपी के रिश्तेदार को हिरासत में लिया है। उसी की मदद से हमलावरों को दबोचने की कोशिश में लगी है।
भुड़पुरवा गांव में ठाकुर प्रसाद (50), पत्नी कमला, बेटे रामबाबू के साथ रहकर पुश्तैनी 12 बिस्वा जमीन पर खेती-किसानी करते थे। उनकी जमीन पर इमलिहा पुरवा निवासी बलवीर, नन्हके, अरूण, शराब के ठेकेदार के अलावा रामकिशोर की नजर थी। ये लोग ठाकुरप्रसाद पर जमीन बेचने का काफी दिनों से दबाव बना रहे थे लेकिन किसान इसके लिए तैयार नहीं था। ठाकुर प्रसाद के भाई कन्हई लाल की मानें तो रविवार सुबह करीब 12 बजे सभी लोग घर पहुंचे। ये लोग ठाकुर प्रसाद को जबरन अपने साथ ले गये। शराब पिलायी। फिर जमीन लिखाने की कोशिश की। ठाकुर प्रसाद तैयार नहीं हुए तो लात-घूसों के अलावा उनकी डण्डों से पिटाई कर दी। गम्भीर रूप से घायल किसान बेहोश हो गया तो उसे सभी लोग वहीं स्थित एक शराब ठेके के बेसमेंट में डालकर चलते बने। देर रात ठाकुर को होश आया तो उसके कराहने की आवाज सुनकर वहां मौजूद लोग अन्दर पहुंचे। उन्होंने ठाकुरप्रसाद की हालत नाजुक देख साढ़े 11 बजे के आसपास परिजनों को बताया। तब कन्हई, भारत, लवकुश व ब्रजलाल वहां पहुंचे। ये लोग उन्हें घर ले आये। सोमवार सुबह करीब 6 बजे के आसपास होश आया तो उन्होंने खुद के साथ हुई घटना बतायी। थोड़ी देर बाद ही उनकी मौत हो गयी। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। वो मौके पर पहुंची। पहले तो उसने ज्यादा शराब पीने से मौत होने का राग अलापा, फिर कन्हई से मामले की तहरीर लेकर सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148 व 302 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया। उधर पीएम रिपोर्ट में भी अन्दरूनी चोटें आने से मौत होने की बात सामने आयी है। पुलिस मुख्य आरोपी बलवीर के भाई कल्लू को हिरासत में लेकर उसकी मदद से बाकी आरोपियों की तलाशने में जुट गयी है।

error: Content is protected !!