Wednesday, September 18, 2019
Home > Crime > फिल्टर होने का दावा कर बेच रहे थे साधारण पानी

फिल्टर होने का दावा कर बेच रहे थे साधारण पानी

– जानकीपुरम के सेक्टर आई में चल रहा था अवैध पानी कारखाना
– खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने छापा मार कर करीब 25000 पाउच बरामद किए
लखनऊ Ap3news- खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने शनिवार को जानकीपुरम के सेक्टर-आई स्थित मकान नंबर एचडी-174 में छापा मार कर 200 एमएल वाले करीब पच्चीस हजार पाउच करीब 250 बोरे में भरे हुए बरामद किया। अधिकारियों ने मौके से पैकिंग करने वाली एक मसीन समेत बरामद माल को सील कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।


मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुरेश मिश्रा ने बताया कि शनिवार को वह अपनी टीम के साथ क्षेत्र में भ्रमण कर रहे थे। तभी टेढ़ीपुलिया चौराहे के पास एक हाफ डाला में पानी के पाउच से भरी बोरियां देखी। शक होने पर डाला का पीछा कर उसे रामराम बैंक चौराहे पर रोक लिया गया। डाले में जल धारा नाम से पानी के पाउच लदे हुए थे। पाउच में पैकिंग डेट, एक्सपाइरी डेट व लाइसेंस नंबर नहीं लिखा हुआ था।

इस पर डाला चालक को लेकर जानकीपुरम सेक्टर आई के मकान नंबर एचडी-174 में जाया गया जहां एक पैकिंग मसीन से पाउच पैक करते हुए पाया गया। पानी को बिना फिल्टर के ही पैक किया जा रहा था। मौके से कारखाना के मैनेजर सराफत अली व दो कर्मचारी काम करते हुए मिले। पूछने पर सराफत अली ने बताया कि कारखाना के मालिक चौक निवासी मोहित सक्सेना हैं। हालांकि अधिकारियों द्वारा फोन पर बातचीत करने के बावजूद मोहित मौके पर नहीं पहुंच सके। कार्रवाई के दौरान मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुरेश मिश्रा के साथ ही खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्रीनिवास यादव, कमलेश शुक्ला, संतोष कुमार, दर्पण कुमार व शैलेन्द्र कुमार श्रीवास्तव मौजूद रहे।
सबसे ज्यादा खपत नवीन गल्ला मंडी में
कारखाना के मैनेजर सराफत अली ने पूछताछ के दौरान अधिकारियों को बताया कि करीब डेढ़ साल पहले किराए के मकान में पानी की शुरुआत की गई थी। शुरुआत में जार (बॉटल) में पानी की सप्लाई की जाती थी। लेकिन पाउच में ज्यादा फायदा होता है। पाउच की मॉर्केट में सेल भी बहुत है। लिहाजा पाउच में पानी भरकर सप्लाई शुरू कराई जाने लगी। मौके पर मिले कर्मचारियों के मुताबिक पाउच की सबसे ज्यादा सप्लाई नवीन गल्ला मंडी में होती थी।
कार्रवाई के दौरान धमकाने आए थे मालिक के गुर्गे
मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुरेश मिश्रा ने बताया कि कार्रवाई के दौरान कारखाना के मालिक के कुछ गुर्गे मौके पर आकर उन लोगों को धमकाने लगे। यहां तक अपनी ऊंची पहुंच का भय दिखाकर मौके से जाने का फरमान सुना दिया। जिस पर अधिकारियों ने पुलिस बुलाने की बात कही जिसके बाद सभी देख लेने की धमकी देते हुए भाग गए।

error: Content is protected !!