Sunday, December 15, 2019
Home > Crime > कॉन्स्टेबल पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण का आरोप

कॉन्स्टेबल पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण का आरोप

-पीड़ित युवती का आरोप घर मे घुसकर आरोपित दे रहा था धमकी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लिया

-एसएसपी ने सीओ कैंट तनु उपाध्यक्ष को दिए जांच के निर्देश

लखनऊ Ap3news- मड़ियांव निवासी एक युवती ने राजधानी के एक थाने में तैनात कॉन्स्टेबल पर शादी का झांसा देकर पांच साल तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। पीड़िता का आरोप है कि वह आरोपित पर कार्रवाई के लिए करीब एक महीने से उच्चाधिकारियों के दरवाजे खटखटा रही थी। लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई। रविवार रात आरोपित उसके घर मे घुस आया और केस वापस लेने के लिए धमकी देने लगा। पीड़िता की सूचना पर पहुंची पुलिस आरोपित को हिरासत में लेकर थाने ले आई। जहां पीड़िता ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। हालांकि थाने पर कई घंटे तक चले हाई प्रोफाइल ड्रामे के बाद आरोपित सिपाही शादी के लिए राजी हो गया। जिसके बाद युवती ने शिकायत वापस ले ली।

मड़ियांव थाना क्षेत्र की निवासी 24 वर्षीय युवती के मुताबिक करीब छह साल पहले पति से उसका अलगाव हो गया था। तभी से वह अपने स्वर्गीय पिता के घर मे रहकर गुजर बसर कर रही है। युवती के मुताबिक करीब पांच साल पहले मकान के निर्माण के दौरान आरोपित कॉन्स्टेबल ठेकेदार के साथ उसके घर पर आया था। तभी से दोनों के बीच जान पहचान हो गई थी। शादी का झांसा देकर आरोपित ने यौन शोषण शुरू कर दिया। आरोप है कि शादी के लिए दबाव बनाने पर आरोपित करीब एक वर्ष पहले उसके घर पर आकर रहना लगा। इतना ही नहीं ताड़ीखाना स्थित मंदिर में ले जाकर उसकी मांग में सिंदूर भरा और कहा कि कुछ दिनों में ही वह अपने परिवारीजनों को मना कर उससे पूरे रीति रिवाज से शादी कर लेगा। पीड़िता का आरोप है कि इस बीच वह दो बार प्रेग्नेंट भी हुई। जिस पर आरोपित ने दबाव बना कर अबॉर्शन भी करवा दिया। आरोप है करीब डेढ़ महीने पहले आरोपित ने शादी करने से मना कर दिया और उससे दूरी बना ली। पीड़िता के मुताबिक आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए उसने मड़ियांव कोतवाली से लेकर एसएसपी, डीजीपी, महिला आयोग व मुख्यमंत्री कार्यालय को भी लेटर दिया। लेकिन उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो सकी।

धमकाने पहुंचे आरोपित को कमरे में बंद किया

पीड़ित युवती के मुताबिक रविवार रात करीब एक बजे आरोपित उसके घर पर दस्तक दी। काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब उसने दरवाजा नहीं खोला तो आरोपित छत फांद कर घर के अंदर दाखिल हो गया और केस की पैरवी करने पर उसे धमकाने लगा। इतना ही नहीं एक सादे कागज पर आरोपित जबरन साइन करने का दबाव बना रहा था। इस पर पीड़िता ने आरोपित को कमरे में बंद कर यूपी-100 पर सूचना दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस उसे मड़ियांव थाने ले आई।

वर्जन

थाने पर दोनों में समझौता हो गया। जिसके बाद युवती ने शिकायत वापस ले ली। हालांकि सिपाही पर लगे महिला उत्पीड़न के मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने पूरे प्रकरण की जांच सीओ कैंट को सौंपी है। आगे की कार्रवाई सीओ की रिपोर्ट के आधार पर की जाएगी।

 -स्वतंत्र कुमार सिंह, सीओ अलीगंज

error: Content is protected !!