Friday, September 18, 2020
Home > Crime > जिंदगी से हताश महिला और छात्र ने की आत्महत्या

जिंदगी से हताश महिला और छात्र ने की आत्महत्या

लखनऊ Ap3news- मड़ियांव में जिंदगी से हताश होकर एक छात्र और महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र के पास से मिले सुसाइड नोट में उसने खुद को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने के साथ ही घटना की जांच शुरू कर दी है।

 इंस्पेक्टर मड़ियांव संतोष कुमार सिंह ने बताया कि मूल रूप से करवापूरब, अम्बेडकर निवासी ऋषि गुप्ता (22) मड़ियांव के कमलाबाद बढ़ौली निवासी अखिलेश के मकान में मित्र रवि के साथ रहकर बोरा इंस्टीट्यूट से बीएनएलटी के थर्ड ईयर की पढ़ाई कर रहा था। रवि के मुताबिक शनिवार को वह कॉलेज गया हुआ था। कमरे मे ऋषि अकेला था। शाम को वापस लौटने पर कमरा अंदर से बंद मिला। काफी देर तक आवाज लगाने पर भी न खुलने पर पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर गई। जहां देखा कि ऋषि का शव पंखा और रस्सी के सहारे फांसी से से लटक रहा था। पुलिस को मुताबिक पास से मिले सुसाइड नोट में ऋषि ने अपनी मौत का खुद को जिम्मेदार ठहराया है। वही दोस्तों का कहना है कि ऋषि अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। पिता रामप्रताप की करीब तीन महीने पहले मौत हो गई थी। तभी से ऋषि गुमशुम रहने लगा था। उधर मड़ियांव थाना क्षेत्र के ही सेक्टर ए अलीगंज निवासी भगवती शरण जायसवाल की पत्नी मयंक जायसवाल (34) ने शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे कमरे में पंखा और रस्सी के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पति भगवती शरण के मुताबिक घटना के समय वह कुर्सी बाराबंकी स्थित अपनी प्लास्टिक की फैक्ट्री गए हुए थे। तभी भतीजे हरि जायसवाल ने फोन कर घटना की जानकारी दी। मृतक के एक बेटा 7 वर्ष व एक बेटी 5 वर्ष की है। पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक जांच में घरेलू कलह का मामला सामने आया है।