Monday, November 11, 2019
Home > Crime > पीड़िता व उसके परिवार समेत वकील को सुरक्षा के आदेश

पीड़िता व उसके परिवार समेत वकील को सुरक्षा के आदेश

-164 के बयान के बाद कोर्ट ने एसएसपी को दिया आदेश

-मड़ियांव में वकील द्वारा सगी भतीजी से रेप के प्रयास का मामला

लखनऊ Ap3news- मड़ियांव के कृष्णलोक कॉलोनी में वकील द्वारा सगी भतीजी से रेप के प्रयास के मामले में कोर्ट ने सोमवार को धारा-164 के बयान के बाद पीड़िता व उसके परिवार समेत वकील की सुरक्षा का आदेश एसएसपी कलानिधि नैथानी को दिया है। इसके अलावा पेशी के दौरान वकीलों द्वारा कोर्ट में बवाल किए जाने की आशंका के चलते कोर्ट में भारी पुलिस बल मुस्तैद करने का भी आदेश दिया है।

यह था मामला

कृष्णलोक नगर निवासी एक महिला के पति की 17 जून को मौत हो गई है। उसकी दो बेटी 21 वर्ष और 11 वर्ष हैं। आरोप है कि महिला के ससुर व वकील जेठ महिला व उसकी दोनों बेटियों को घर से निकालने के लिए कई दिनों से परेशान कर रहे थे। महिला की बड़ी बेटी का आरोप है कि आरोपित वकील कई बार उससे अश्लील हरकत कर चुका है उसकी मंशा है कि उसकी हरकतों से परेशान होकर वह लोग घर से निकल जाएं। जिसकी कई बार शिकायत पुलिस को दी गई। युवती के मुताबिक शुक्रवार की दोपहर वह कमरे में अकेली थी। मां और छोटी बहन काम से बाहर गए हुए थे। इसी बीच आरोपित उसके कमरे में घुस आया और रेप का प्रयास करने लगा। पीड़िता किसी तरह से आरोपित के चंगुल से छूट कर बाहर आ गई। आरोप है कि आरोपित के पिता से शिकायत करने पर उन्होंने भी यही कह दिया कि जब तक तुम लोग घर से नहीं जाओगी। ऐसे ही परेशान किया जाएगा। जिसके बाद पुलिस ने पीड़िता की मां की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ रेप, मारपीट, गालीगलौज और धमकी के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित वकील को गिरफ्तार कर लिया गया था।

मिल गई थी अंतरिम जमानत

पुलिस ने पीड़ित युवती के प्रारंभिक बयान के आधार पर आरोपित वकील को गिरफ्तार कर शनिवार को कोर्ट के समक्ष पेश किया था। जहां से उसे अंतरिम जमानत मिल गई थी। कोर्ट के आदेश पर आरोपित को 31 जुलाई को दोबारा कोर्ट में पेश होना है। इससे पहले ही सोमवार को पुलिस ने पीड़िता के 164 के तहत बयान कोर्ट के समक्ष करवा दिया। पीड़िता के वकील के मुताबिक बयान के आधार पर कोर्ट ने घटना की गंभीरता को देखते हुए पीड़ित युवती व उसके परिवार समेत केस की पैरवी कर रही वकील की सुरक्षा देने के लिए एसएसपी कलानिधि नैथानी को आदेश दिया है। इसके अलावा 31 जुलाई को आरोपित का जेल जाना लगभग तय है, लिहाजा साथी वकीलों द्वारा कोर्ट परिसर में हंगामा करने की आशंका के चलते कोर्ट ने एसएसपी और इंस्पेक्टर मड़ियांव को भारी पुलिस बल तैनात करने का भी आदेश दिया है।

error: Content is protected !!