Monday, November 11, 2019
Home > Crime > गुडम्बा के तीन गांव के 7 घरों में बदमाशों का धावा

गुडम्बा के तीन गांव के 7 घरों में बदमाशों का धावा

-बदमाशों ने पलका, कौड़ियामऊ और सादामऊ को बनाया निशाना

-बदमाशों के आने की सूचना पर पहुंची पुलिस गश्त करती रही और बदमाश घटना करते रहे

लखनऊ Ap3news-गुडम्बा थाना क्षेत्र के तीन गांवों में रविवार रात लाठी-डंडों और असलहों से लैस बदमाशों ने धावा बोल दिया। बदमाशों ने सात घरों को निशाना बनाया। सारी रात पूरे इलाके में बदमाश घूम-घूम कर घटना को अंजाम देते रहे। जिसके चलते ग्रामीणों में दहशत है। ग्रामीणों का कहना है कि बदमाशों को हौसले इतने बुलंद थे कि इलाके में पुलिस की मौजुदगी होने के बावजूद वह घरों को निशाना बनाते रहे। हालांकि इंस्पेक्टर गुडम्बा का कहना है कि पीड़ितों से तहरीर मांगी गई है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों को पकड़ने का प्रयास किया जाएगा।

 ग्रामीणों के मुताबिक पलका गांव निवासी जियाउल और परवेज ने रात करीब 12:30 बजे घर की छत से नहर के किनारे सात बदमाशों को चंद्रमा के उजाले में देखा था। दोनों के मुताबिक बदमाश लाठी-डंडों से लैस दिख रहे थे। कुछ कच्छा-बनियान में थे। इसकी सूचना यूपी-100 पर दी गई। लोगों के मुताबिक पुलिस की गाड़ी का सायरन बजते ही बदमाश भाग निकले। लोगों के मुताबिक पुलिस गांव में गश्त कर ही रही थी। तभी कौड़ियामऊ गांव से बदमाश होने की आवाजे आने लगी। इसके बाद पुलिस कौड़ियामऊ पहुंची। जहां पता चला कि सुरेश यादव के घर मे बदमाश घुसे थे। तभी सुरेश जग गए और घर मे बदमाशों को देख कर शोर मचा दिया। जिससे बदमाश भाग निकले। तभी पड़ोस की रहने वाली गुलाब देवी ने बताया कि बदमाश उनके मेन गेट को तोड़ने का प्रयास कर रहे थे। इतनी में उनकी नींद खुल गई। उन्होंने बेटे राहुल को जगाया। शोर मचाने पर बदमाश भाग निकले। इसके अलावा पास के ही रहने वाले प्रदीप यादव के घर से चोरों ने बीस हजार रुपये और जेवर पर हाथ साफ किया है। पड़ोसी तिलक राम ने बताया कि उनके घर मे भी कुछ बदमाश घुसे थे। बक्सा तोड़ने का प्रयास कर रहे थे। तभी ग्रामीणों का शोरगुल सुनकर वह भी जग गए। घर से बदमाशों को भागते देख वह दहशत में आ गए थे। 

पुलिस के जाने के बाद फिर दिखे बदमाश

पीड़ित सुरेश ने बताया कि पुलिस पड़ताल करके चली गई। इस दौरान सुबह के चार बजे रहे थे। इस पर वह शौच के लिए जा रहा था। तभी गांव के किनारे 4-5 बदमाशों को उसने झाड़ियों में छिपे हुए देखा। शोर मचाने पर ग्रामीणों ने घेरने का प्रयास किया। लेकिन वह भाग निकले।

सुबह जागने पर हुई चोरी की जानकारी

पलका गांव निवासी दूध व्यवसायी अशर्फीलाल के मुताबिक पुलिस के जाने के बाद वह परिवार समेत घर मे सो गए। सुबह जागने पर कमरे के अंदर का सामान बिखरा हुआ व बक्सा गायब मिला। तलाश करने पर घर के बाहर बक्सा टूटा हुआ मिला। पीड़ित के मुताबिक बक्से में रखे 25 हजार रुपये समेत करीब तीन लाख रुपये कीमत के जेवर गायब थे। वहीं अशर्फीलाल के घर से कुछ दूरी पर रहने वाले अतीक के घर से भी बदमाशों ने जेवर व रुपये चोरी कर ले गए।  इसके अलावा पड़ोसी गांव सादामऊ निवासी बबलू के घर से भी बदमाशों ने बीस हजार रुपये व जेवर चोरी कर ले गए। 

 

पहले हुई चोरी की पुलिस ने नहीं दर्ज की रिपोर्ट

कौड़ियामऊ निवासी किसान रमेश यादव ने बताया कि उसके घर से पांच अक्टूबर को चोरों ने 40 लीटर मेंथा ऑयल और बीस हजार रुपये चोरी कर ले गए थे। आरोप है कि चौकी पर तहरीर देने के बावजूद उसकी रिपोर्ट आज तक दर्ज नहीं की जा सकी है।

दहशत में ग्रामीण खुद लगाएंगे पहरा

ग्रामीणों के मुताबिक एक साल पहले 18 अक्टूबर 2018 को भी बदमाशों ने इसी तर्ज पर पारा और रजौली गांव में धावा बोल कर कई घरों में वारदात की थी। ग्रामीणों के दौड़ाने पर हथगोले भी फेंके थे। पुलिस आज तक उन बदमाशों को नहीं पकड़ सकी है। इधर लगातार बदमाश चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। आरोप है कि शिकायत के बावजूद पुलिस गश्त नहीं करती है। लिहाजा अब वह स्वयं ही टोली बना कर रात्रि पहरा करने का निर्णय लिया है। 

वर्जन

घटना की जानकारी हुई है। सभी पीड़ितों से तहरीर मांगी गई है। इसके अलावा क्षेत्र में पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है।

 -बलवीर सिंह, अतिरिक्त प्रभारी गुडम्बा

error: Content is protected !!