Thursday, February 20, 2020
Home > Crime > साजिश के आरोप में प्रॉपटी डीलर गिरफ्तार, भेजा गया जेल

साजिश के आरोप में प्रॉपटी डीलर गिरफ्तार, भेजा गया जेल

गुपचुप तरीके से पुलिस ने की कार्रवाई, मीडिया को नही दी जानकारी

-पुलिस ने बताया कि आरोप व गवाही के आधार पर भेजा गया जेल, पूरे प्रकरण की चल रही जांच

लखनऊ ap3news-जानकीपुरम थाना क्षेत्र के गड़रियन पुरवा में गुरुवार रात पांच गोलियां मार कर की गई प्रॉपर्टी डीलर की हत्या के मामले में पुलिस ने रविवार को नामजद मुख्य आरोपित प्रॉपर्टी डीलर शेर मोहम्मद को गिफ्तार दिखाकर जेल भेज दिया है। इंस्पेक्टर का कहना है आरोपो व गवाही के आधार पर आरोपित को जेल भेजा गया है। शूटरों की तलाश की जा रही है।  

  जानकीपुरम थाना क्षेत्र के गड़रियन पुरवा निवासी अवधेश कुमार अवस्थी (58) प्रॉपर्टी डीलर का काम करते थे। गुरुवार रात करीब 7:30 बजे वह घर के एक हिस्से में स्थित किराने की दुकान पर बैठे थे। तभी बदमाशों ने ताबड़तोड़ पांच गोली उन्हें मार दी थी। गंभीर हालत मे उन्हें ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया था। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। मृतक के बेटे रोहित ने प्रॉपर्टी को लेकर लेनदेन के विवाद में हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए खदरा निवासी शेर मोहम्मद व उनके दो सहयोगी गुड्डू व पांडेय के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई थी। इंस्पेक्टर जानकीपुरम मुहम्मद अशरफ ने बताया कि शेर मोहम्मद को घटना के बाद ही देर रात हिरासत में लिया गया था। रविवार को उसे आरोपो व गवाही के आधार पर जेल भेज दिया गया। हालांकि पूरे प्रकरण की जांच चल रही।

मऊ से हिरासत में लिए गए संदिग्ध

घटना के जल्द खुलासे को लेकर क्राइम ब्रांच को भी लगाया गया है। सूत्रों के मुताबिक गुडम्बा थाना क्षेत्र में 16 सितंबर की रात बियर शॉप में घुसकर सेल्समैन को गोली मार कर लूटपाट करने वाले आरोपित कुछ दिनों पहले ही जेल से जमानत पर रिहा हुए थे। हत्या में उन्हीं की संलिप्तता होने के शक में क्राइम ब्रांच ने शनिवार रात मऊ से उन्हें उठाया था। हालांकि पूछताछ के बाद भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी।

कई लोगों से रंजिश होने पर चकराई पुलिस

पुलिस ने बताया कि अवधेश व उसके बेटे रोहित से लेनदेन को लेकर कई लोगों से विवाद होने के कारण पुलिस भी चकराई हुई है। पुलिस का कहना है कि शक के आधर पर अब तक पुलिस ने दो दर्जन से अधिक संदिग्धों से पूछताछ कर चुकी है। कई संदिग्धों की सीडीआर निकलवाने के साथ ही गुपचुप तरीके से उनकी गतिविधियों पर भी नजर रखी जा रही है।

error: Content is protected !!