Saturday, January 18, 2020
Home > Top Stories > लोकतांत्रिक व्यवस्था की स्थापना में पत्रकारों की महत्वपूर्ण भूमिका : सीमा गुप्ता

लोकतांत्रिक व्यवस्था की स्थापना में पत्रकारों की महत्वपूर्ण भूमिका : सीमा गुप्ता

चर्चा करते हैं लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की महत्वपूर्ण भूमिका के संबंध में अर्थात पत्रकारिता के संबंध में ।जैसा कि हम सभी विदित है कि भारत की समृद्ध लोकतांत्रिक व्यवस्था रही है जिसमें विचारों की स्वतंत्रता हम सभी के मूल अधिकारों में एक है और विचारों की स्वतंत्रता और हम क्या सोचते हैं, समझते हैं, बोलते हैं तथा करते हैं इसकी उत्कृष्ट अभिव्यक्ति हम सभी पत्रकारिता में देखते हैं ।

जैसा कि पत्रकार भाई बंधु हम सभी के सबसे महत्वपूर्ण अधिकार स्तंभ के रूप में जाने जाते हैं क्योंकि वह 24 घंटा दिन रात एक कर के लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करते हैं। बावजूद वर्तमान समय में हमारे लोकतंत्र के मजबूत स्तंभ को वह मजबूत सुरक्षा तथा सम्मान नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण वर्तमान व्यवस्था में हमारे कई पत्रकार बंधु लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। तो दूसरी तरफ कतिपय असुविधा के कारण लोकतांत्रिक व्यवस्था भी कुछेक समस्याओं से ग्रस्त होती जा रही है । जिसकी चर्चा निश्चित रूप से वृहद स्तर पर एक मंच पर करनी आवश्यक है। क्योंकि लोकतांत्रिक व्यवस्था की स्थापना में हमारे पत्रकार भाई बंधुओं की महत्वपूर्ण भूमिका है लेकिन लोग बाग द्वारा उनके लिए जो करना चाहिए वह नहीं किया जा रहा है जो कि बेहदखेद जनक है । यूपी महोत्सव में मुझे अपने प्रिय पत्रकार भाई बंधुओं के साथ रहने का शुभ अवसर मिला मुझे ऐसा महसूस हुआ कि निश्चित रूप से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में जैसा कि वर्णन किया जाता है एकदम सत्य है ।बावजूद उन्हें जो सुविधा सम्मान मिलना चाहिए वह पर्याप्त रूप से नहीं मिल रहा है। मेरा सभी लोगों से अनुरोध है कि कृपया हमारे लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकार भाई बंधुओं के लिए भी उनकी सुविधाओं के लिए हमे आवाज उठानी चाहिए और अपने-अपने संगठनों कार्यस्थल पर पत्रकार भाई बंधुओं के सुविधा और उनके सम्मान के लिए कार्य भी करना चाहिए।

सीमा गुप्ता की कलम से

(कवियत्री व साहित्यकार)

सीमा गुप्ता जी वर्तमान में समीक्षा अधिकारी के पद पर तैनात है। 

error: Content is protected !!