Thursday, October 1, 2020
Home > Top Stories > उत्तरायणी कौथिग में बच्चों की मनमोहक प्रस्तुतियों पर झूम उठे लोग

उत्तरायणी कौथिग में बच्चों की मनमोहक प्रस्तुतियों पर झूम उठे लोग

उत्तरायणी कौथिंग-2020 में पांचवा दिन

लखनऊ Ap3news-कौथिग में छोटे-छोटे बच्चों के लिए “किड्स ऑफ पर्वतीय महापरिषद ” कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें नन्हे मुन्नों ने अपनी प्रतिभा फिल्मी गानो के माध्यम से दिखायी। थल की बजारा …पर आराध्या व यर्थाथ व तेरो लहंगा….पर यथार्थ व कार्की ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुति किया। गायन प्रतियोगिता में 3 से 8 वर्ष में प्रथम देवांश राज, द्वितीय सारा आनन्द व तृतीय स्थान पर हर्षिता काण्डपाल रही। वही 9 से 13 वर्ष में प्रथम स्थान अंशिका,द्वितीय कर्णिका तिवारी व तृतीय स्थान चैत्र काण्डपाल को मिला।तेरो लहंगा रंगीली पिछौडी जरा आंख मे लगा ले काजला…कुमाऊनी गीत पर छह वर्षीय स्वरा त्रिपाठी ने अपनी प्रस्तुति देकर पर्वतीय समाज का दिल जीत लिया। महानगर रामलीला मैदान में चल रहे उत्तरायणी कौथिंग-2020 में शनिवार का दिन नन्हे मुन्नों के नाम रहा।

13 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में प्रथम विपुल पाण्डेय, द्वितीय सुमन राव व तृतीय वरूण भटट व सांत्वना विमला यादव को दिया गया। प्रतियोगिता में 60 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। निर्णायक मण्डल में गिरीश चन्द्र बहुगुणा व हितेश भारद्वाज शामिल रहे। शाम को सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ मुख्य अतिथि नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन “गोपालजी” ने किया। महापरिषद के अध्यक्ष भवान सिह रावत व महासचिव गणेश चन्द जोषी ने मुख्य अतिथि का मल्यार्पण कर स्वागत किया मुख्य संयोजक डी एस बाफिला व संयोजक टी एस मनराल ने प्रतीक चिन्ह भेट किया।


महेंद्र पंत को ज्ञान पंत व दीवान सिह डोलिया लोक कला सम्मान

मुख्य अतिथि ने वरिष्ठ कलाकार महेंद्र पंत को
गोपाल साहित्य सम्मान-साहित्यकार ज्ञान पंत व दीवान सिह डोलिया लोक कला सम्मान से सम्मानित किया।

कोटद्वार की लैन मां टैक्सी फराफर.. पर झूमे लोग

शाम को सांस्कृतिक संध्या में देवभूमि जनसरोकार सांस्कृतिक मंच की धमाकोदार प्रस्तुतियां बलवंत वाॅणगी के निर्देशन व सांस्कृतिक सचिव मुन्नी रावत के सहयोग आयोजित हुई। जय जय जय लाटू सिद्वपीठ लाटू.., गढवाली खुदेड़ गीत – घुघुती धुरॅंण लगें..पर पंकज वांणगी, गौरव शर्मा, मनीश तिवारी, चन्दन बोरा, नीरज सिह, हिमांशु राणा, पुष्पेंद्र कुमार ने मनमोहक प्रस्तुति दी। हिल मां चाॅदी को बटना..,गढवाली गीत- कोटद्वार की लैन मां टैक्सी फराफर.., नांन स्टाप गाना पर पूजा कोठियाल, रीतू रूधीर, रीमा वांणगी, श्वेता, साक्षी तिवारी व अनिता ने नृत्य प्रस्तुत किया। भिक्यासेण उत्तराखण्ड से मंन्जू पडलिया के सहयोग चित्रा पंत के निर्देशन , कविता आर्या के देखरेख में “गौंड गे्रस अकाडेमी स्कूल” से आये बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। गढवाली नृत्य झम झम बिजली हो..,ओ भिना कसकै जानू द्वारहाटा…, रानी खेत राम ढोला.., धूमे दे धूमे दे …., धुधती धिहारी के जाला…, बेडू पाको बारा मासा… जैसेे गानों पर, चांदनी हुसैन, बबिता, मानसी
बिष्ट, निकिंता मावरी, दिया बिष्ट, एलिश सिसौदिया, अंजलि ने धमाकेदार नृत्य प्रस्तुत के सभी का दिल जीत लिया।