Sunday, August 9, 2020
Home > Education > अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए सरकार एफडीआई पर बनाए प्रभावकारी नीतियां

अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए सरकार एफडीआई पर बनाए प्रभावकारी नीतियां

ऑनलाइन वेबिनार “इम्पैक्ट ऑफ कोविड-19 ऑन इंटरनेशनल लॉ” में दूसरा दिन

लखनऊ Ap3news- लखनऊ विश्वविद्यालय के विधि संकाय की तरफ से आयोजित कराए जा रहे तीन दिवसीय अॉनलाइन वेबिनार “इम्पैक्ट ऑफ कोविड-19 ऑन इंटरनेशनल लॉ” में दूसरा दिवस पर सामाजिक अर्थशास्त्री वा विद्यांत हिन्दू पी.जी. कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मनीष हिंदवी के द्वारा व्याख्यान दिया गया।

डीन विधि संकाय लविवि प्रो. सी.पी. सिंह ने बताया कि आज दूसरे दिन डॉ. मनीष हिंदवी के द्वारा “इम्पैक्ट ऑफ कोविड-19 अॉन वर्ल्ड इकोनॉमी” विषय पर व्याख्यान दिया गया और परिचर्चा की गई।

डॉ. मनीष हिंदवी ने अपने व्याख्यान में बताया कि “वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस महामारी की वजह से ट्रांसपोर्ट गतिविधियां में आयी रूकावट नें वैश्विक व्यापार को बूरी तरह प्रभावित किया है।”
उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि “कोरोनावायरस लॉकडाउन से प्रभावित हुई अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए भारत सरकार को एफडीआई पर प्रभावकारी नीतियां लाने की जरूरत है और चीन से अन्य देशों के उद्योगों को भारत में आकर्षित करना पड़ेगा।”

डीन विधि संकाय लविवि प्रो. सी.पी. सिंह ने ये भी बताया कि कोरोनावायरस महामारी के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था पर बूरा प्रभाव पड़ा है। अतः चीन के ये जिम्मेवारी है कि उसको सभी देशों की क्षतिपूर्ति करनी चाहिए।

वेबिनार के ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी विधि संकाय लविवि के प्रो. मोहम्मद अहमद ने बताया की वेबिनार में देश के विभिन्न हिस्सों से प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया और परिचर्चा करी।
इस वेबिनार को आयोजित कराने में विधि संकाय लविवि के छात्र सक्षम अग्रवाल, सचिन वर्मा, हरि गोविन्द दुबे, शिशिर यादव, शिखर ने मुख्य भूमिका निभाई।