Saturday, August 24, 2019
Home > Events > यू0 पी0 महोत्सव में बरसाने की होली नृत्य व धूमर नृत्य ने समां बांधा

यू0 पी0 महोत्सव में बरसाने की होली नृत्य व धूमर नृत्य ने समां बांधा

लखनऊ निज संवाददाता– पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के तत्वावधान में पोस्टल ग्राउण्ड अलीगंज में चल रहे यू0पी0 महोत्सव की छठी सांस्कृतिक संध्या में बरसाने की होली नृत्य व घूमर नृत्य ने समां बांधा।
संगीत से सजे कार्यक्रम का हुमा साहू, सृष्टि, श्रेया ने श्री गणेषाय देवा पर आकर्षक भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य प्रस्तुत कर दर्षकों को भक्ति के सागर में आकण्ठ डुबोया। इस प्रस्तुति के उपरान्त साम्भवी, तोषी, तनिष्का, आर्या, रूनझुन ने षिव स्तुति जय भोलेनाथ पर नृत्य प्रस्तुत कर दर्षकों को भगवान षिव षंकर के षान्त व रौद्र रूप के दर्षन करवाए।


भक्ति भावना से ओतप्रोत इस प्रस्तुति के उपरान्त अभिषेक, संदीप, कोमल ने बाजीराव मस्तानी, राजन, तनिषा, अयान ने कोई कहे कहता रहे, श्रेया, खुषी, अरचिता, तोषी, सामिकष ने काहे छेड छेड मोपे गरबा लगाए गीत पर आकर्षक नृृत्य पेष कर लोगों का मन मोहा।
मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुती के उपरान्त हीरेन्द्र सिंह के संयोजन में हुई अवधी नाइट में सृष्टि, खुषी, श्रेया, श्रेया, साम्भवी, अरया, तोषी, तनिष्का ओर रूनझुन ने होली अरे जा रे नटखट, आज बिरज में होरी रे रसिया बरजोरी रे रसिया पर भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य प्रस्तुत कर दर्षकों को होरी के रंग के मानिन्द सराबोर कर दिया।
दिल को जीत लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त अनुपमा श्रीवास्तव ने पखावज पर गत, रेला, परन और दादरा बजाकर श्रोताओं को मंत्र मुग्ध किया। इस पेषकष के उपरान्त अनुराग षाह ने अमन गुप्ता के गिटार वादन में एक प्यार का नगमा है, क्या हुआ तेरा वादा, प्यार दिवाना होता है गीत को सुनाकर श्रोताओं का दिल जीता। इसी क्रम में खुषी और सृष्टि ने संयुक्त रूप से उपज, थाट, आमद परन, तोडे, तिहाई, गत निकास को प्रस्तुत कर दर्षकों को कथक के पारम्परिक स्वरूप से अवगत कराया। मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त मधुलिका बोस, वैभव षर्मा, संदीप सागर, सिद्धान्त गुप्ता ने काहे छेड छेड, आज ब्रज में होरी, राधा कैसे न जले गीत पर भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य प्रस्तुत कर दर्षकों की असंख्य तालियां बटोंरी।
यू0पी0 महोत्सव में आज दोपहर में अंजलि खन्ना, प्रीति, दीपक कपूर, षिप्रा चन्द्रा और सरला गुप्ता निर्णनायक मण्डल में हुई गायन प्रतियोगिता में आमीना फातिमा ने सुहानी सुर और ये, सृष्टि श्रीवास्तव ने झूम झूम झूम बाबा, पावनी सिंह ने हंसता हुआ नूरानी चेहरा गीत को सुनाकर श्रोताओं का न केवल मन मोहा अपितु अपनी गायन प्रतिभा से अवगत कराया। इसी क्रम में अनिका सिंह ने वषमल्ले, छवि श्रीवास्तव ने निबूडा निबूडा, अहाना श्रीवास्तव ने घडी बावरी, निमिषा वर्मा ने दिलबर दिलबर गीत पर थिरक कर अपनी नृत्य प्रतिभा से अवगत कराया। इसके अलावा अविरल जोषी ने मेरे रष्के कमर, यजत गुप्ता ने आजकल तेरे मेरे, आरव ने ये लडका हाय अल्लाह, अंष अग्रवाल ने कौन तुझे यूं प्यार और आषुतोष लोहानी ने मेरे महबूब कयामत होगी गीत की धुनों को सिन्थेसाइजर पर बजाकर श्रोताओं को अपनी वादन प्रतिभा से परिचित कराया। आज की सांस्कृतिक संध्या का उद्घाटन मुख्य अतिथि प्रोफेसर षिवेन्द्र षुक्ला आई आर टी एस और प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम का संचालन षिवानी दिनकर और अरविन्द सक्सेना ने किया।
चंपाय र न हांडी पनीर की लज्जत ने किया लोगों मजबूर ।उत्तर प्रदेश महोत्सव में खरीदारी के जबरदस्त माहौल के बीच लोग यहां बने फूड ज़ोन मेबन रहे लजीज व्यंजनों का भी लुत्फ जमकर उठा रहे हैं। रजिस्थानीए गुजराती आदि ऐसे कई स्थानीय पकवानों के बीच बिहार की मशहूर चं पाय रन हांडी पनीर का स्वाद लोगों की जुबान पर खूब बढ़ चढ़ कर बोल रहा है। विक्रेता पवन कुमार गुप्ता ने बताया कि चंपयार न हांडी पुलाव के साथ हांडी पर ही पकाया जा रहा पुलाव के साथ पराठाए सूखी सब्जी के साथ खूबसूरती के साथ लोगों को परोसा जा रहा है। जिसकी लोगों के बीच खूब पसंद किया जा रहा है।

error: Content is protected !!