Monday, April 22, 2019
Home > Top Stories > तीन दिवसीय 108 कुण्डीय देवयज्ञ का अनुष्ठान शुरू

तीन दिवसीय 108 कुण्डीय देवयज्ञ का अनुष्ठान शुरू

लखनऊ संवाददाता -जानकीपुरम् के रसूलपुर कायस्थ में स्थित आर्षगुरूकुलम् विद्या मंदिर के प्रांगण में शुक्रवार को 108 कुण्डीय देवयज्ञ का अनुष्ठान आचार्य विश्वव्रत शास्त्री के पौरोहित्व में प्रियंका शास्त्री, कविता सहगल एंव यशोदा शर्मा द्वारा प्रस्तुत सस्वर ब्रहस्त्रोत से प्रारम्भ हुआ। यज्ञ में 432 जोड़े वेदी के चारों ओर बैठे और आचार्य विश्वव्रत शास्त्री ने स्वास्तिवाचन के मंत्रों का महात्म्य बताया।

यज्ञ की वैज्ञानिक क्रिया विधि पर प्रकाश डालते हुये उन्होंने कहाकि यज्ञ जहां एक ओर हमारी प्राण वायु को शुद्ध करता है और सभी प्राणियों के जीवन को बढ़ाता है। वहीं परिवार, समाज एंव राष्ट्र को सुसंगठित कर प्रगति के पथ पर अग्रसर होने की प्रेरणा देता है। कार्यक्रम के देसरे सत्र में अमृतसर से पधारे दिनेश पथिक ने सुमधुर भजनों से श्रोताओं का मन मोह लिया। पटना से पधारी धर्मरक्षिता ने नारी उत्थान, नारी सम्मान, ईश्वर विषयक एंव समसमायिक भजन प्रस्तुत किये।

आर्य प्रतिनिधि सभा के मंत्री स्वामी धर्मेश्वरानंद व जिला वेद प्रचार मण्डल के अध्यक्ष सत्यकाम ने सभी को संगठित होकर जीवन जीने का संदेश दिया। कार्यक्रम का संचालन नवीन कुमार सहगल ने किया। इस मौके पर अखिलेश मिश्रा, एसके सिंह, संतोष त्रिपाठी, गोपाल निगम, मनीषी, वीरेन्द्र सरस्वती अरविन्द गुप्ता, रोजेश्वर प्रसाद मिश्र, भानुप्रताप सिंह, जयंती सिंह, तारा सिंह, हीरामणि त्रिपाठी, सुरेश शर्मा, सीवी सिंह, व सीमा गुप्ता के अलावा गुरूगुल के समस्त आचार्य एंव छात्र-छात्रायें मौजूद रहे।