Tuesday, June 25, 2019
Home > Top Photos > उत्तरायणी कौथिंग पांचवा दिन 18 जनवरी-2019 कौथिग की शाम रही हास्य के कलाकरों के नाम

उत्तरायणी कौथिंग पांचवा दिन 18 जनवरी-2019 कौथिग की शाम रही हास्य के कलाकरों के नाम

आदरणीय राज्यपाल बिहार श्री लालजी टंडन जी का उत्तरायणी कौथिग पहुँचे

लखनऊ। उत्तरायणी कौथिंग का मंच सचमुच अद्वितीय सुसज्जित स्टेज जिस पर उत्तराखण्ड के सुप्रसिद्व भगवान बागनाथ जी का मंन्दिर का प्रतीतकात्मक चित्रण से मंच को सजाया गया है,ये परिकल्पना पर्वतीय महापरिषद के अध्यक्ष भवान सिह रावत की है। वे हर प्रत्येक वर्ष उत्तराखण्ड के धार्मिक स्थलों को अपने परिकल्पना को हूबहू स्वारूप देकर उत्तरायणी कौथिग में ऊकेरते है । और इस बार साक्षसात भगवान बागनाथ जी के मन्दिर से दीप प्रज्जवलित करके लाया गया है। उस दीप के साथ वहां के मन्दिर के पुजारीगण भी साथ में आये है। यह ज्योति निरन्तर स्टेज पर भगवान बागनाथ के प्रतीकात्माक चित्र पर जलती रहती है।जब तक कि उत्तरायणी कौथिंग-2019 (14-22 जनवरी ) तक जलती रहेगी जिसकी रोजना प्रातः आरती होती ह और समय समय पर दर्षकगण ज्योति के दर्षन करते रहते है।कौथिग के समापन के बाद वापस ज्योति पुनः वहां के पुजारीयों के साथ वापस उत्तराखण्ड बागनाथ मंन्दिर में भेट सहित भेज दी जायेगी।


आज कौथिंग में मुख्य अतिथि महामहिम राज्यपाल बिहार श्री लालजी टण्डन ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्यघाटन किया ततः पष्चायत परिषद के वारिष्ठ पदाधिकारीयों अध्यक्ष भवान सिह रावत, महासचिव गणेंष चन्द जोषी ने माल्यापर्ण व ,डा0 दिलीप सिह बाफिला ,टी0 एस0 मनराल के द्वारा प्रतीत चिन्ह भेट कर स्वागत किया दिन की प्रतियोगिताओं के क्रम में आज गायन प्रतियोगिता तीन आयु वर्ग में आयोजित की गई जिसमें 3 – 8 वर्ष मेें प्रथम- आषिका वर्मा, द्वितीय- चैत काण्डपाल व तृतीय-देवांस राज ,9 -13 आयु वर्ग में प्रथम- काव्या बोस,द्वितीय-.उत्कर्ष मिश्रा.व तृतीय -अथर्व कुमार सिह व दीपक सिह को प्रोत्साहन में रखा गया ं एंव 13 से उपर आयु वर्ग में प्रथम -दृगंगा बोरा द्वितीय- अनन्या मदान.व तृतीय -मंन्जू रौतेला रही जिसमे टोटल 57 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया ,निर्णलायक मण्डल में जी.सी. बहुगुणा व बाल कृष्ण व संचालन महेन्द्र पंत द्वारा किया गया।
चिल्ल्कर कोष प्रभारी सुन्दर पाल सिह बिष्ट व ओ0पी0भारद्वाज ने इस के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह चिल्लर कोष एक सामूहिक सदस्यता कोष है इसका संचालन पर्वतीय महापरिषद द्वारा किया जा रहा है।

इसमें 60 रूपये में एक डिब्बा देकर सदस्यता फार्म भर कर सदस्य बनाया जाता है डिब्बा अपने घर में ले जाकर परिवार के सबसे छोटे सदस्य द्वारा एक रूपया प्रतिदिन इसमें डाला जाता है। इस प्रकार 30 दिन में 30 रूपये तथा एक साल में 360 रू0 होते है। हमारा लक्ष्य 20000 (बीस हजार) सदस्य बनाने का है इस प्रकार एक वर्ष में 72,00,000 (बाहत्तर लाख) रू0 हो जायेगे जिससे हम अपने सदस्यों में से किसी पर भी विपदा आने पर अच्छी सहायता कर सकते हैं।


इस कोष में सदस्यों के परिवार में किसी भी बडी बीमारी लगने पर 5 लाख तक की सहायता प्रदान की जा सकती है।
सांयकालीन सत्र में झंनकार सांस्कृतिक समिति बागेष्वर,उत्तराखण्ड द्वारा वंदना – दैणा होया खोली का गणेषा………………………
जिसमें कलाकार पूजा भण्डारी,दिया आर्या ,ममता,कृतिका भण्डारी, तान्या पाण्डेय,अमर,कमल, अजय,गौरी व हीरा काण्डपाल
गायक- रंजीत सिह दफौटी, गौरव जयसवाल,संजय बिष्ट,बबीता आर्या,नेहा वोरंगा,ममता व दीपा
गुप लीडर- लीला भण्डारी
ओ भागा -गुप डांस ,न्योली, चन्दना मेरो पहाडा आये, ओ साहिवा, नान स्टाप,बेटी बचाओ,बेटी पढाओं- विषेष कार्यक्रम  हास्य कवि – मंगल चौहान, जीवन दानू- कमेडीयन ,रमेष जगरिया ,दीपा नगरकोटी देवभूमि जनसरोकार सांस्कृतिक मंच की प्रस्तुतियां बलवंत वाणंगी ने निर्देषन में आयोजित कई गयी जिसमें गढवाली,कुमांऊनी ,लोकगीत पंकज वाणगी,मुन्नी रावत,गोदावरी रावत ,मालती रावत ने एकल गीत प्रस्तुत किये और वीड़बौक्षर में मुन्नी रावत,गोदावरी ने पं्रस्तुत किये।


जिसमे नृत्य कलाकार पंकल,गौरव,मनीष तिवारी,साक्षी,सौरभ,पूजा,मंन्जू एवं कविता
कार्यक्रम का संचालन प0 नारायण दत्त पाठक व के0सी0पंत द्वारा किया गया।
कार्यालय व्यवस्था में कैलाष उपाध्याय, रविन्द सिह बिष्ट, गोपाल गैलाकोटी, पुष्कर नयाल, गणेंष जोषी एड. जे.के. उपाध्याय, पाटनी ,राजन्द्र सिह रावत ,गंगा भटट, सुमन रावत, चित्रा काण्डपाल सुमन मनराल, सहित कई पदाधिकारी गण है।

कौथिंग में कल -19 जनवरी को होने वाले कार्यक्रम
कुमांऊ लोक कला समिति खुरताल,नैनीताल की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां
सतोष पाण्डेय एवं दल ,सागर मध्य प्रदेष की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां
सृष्टिधर महतो एवं दल,झारखण्ड की प्रस्तुतियां
अन्य कई प्रस्तुतियां।