You are here
Home > प्रदेश

 बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर संत दिल्ली में करेंगे प्रदर्शन

2196667241_28c1f3a859_b

झांसी। लंबे समय से चल रही अलग बुंदेलखंड राज्य की मुहिम में अब धर्मगुरु-धर्माचार्य भी शामिल हो गए हैं। इसके लिए वे अब दिल्ली में धरना-प्रदर्शन भी करेंगे। उन्होंने बताया कि 20 दिसंबर को जंतर-मंतर पर मांग पूरी कराने के लिए प्रोटेस्ट करेंगे।
बुंदेलखंड मुक्ति मोर्चा और युवा वाहिनी के नेतृत्व में झांसी में धर्म संसद आयोजित की गई। इस दौरान वहां मौजूद मुख्य अतिथि अतुलेशानंद महाराज, पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत, महामंडलेश्वर महंत रामप्रिया दास और धर्माचार्य हरिओम पाठक की मौजूदगी में फैसला लिया गया। उन्होंने बताया कि अब बुंदेलखंड के संत और धर्माचार्यों द्वारा अलग राज्य की लड़ाई लड़ी जाएगी। इस प्रस्ताव पर सभी ने मुहर भी लगा दी। संत इस आंदोलन की शुरुआत दिल्ली के जंतर-मंतर से करेंगे।
इस मौके पर महंत राधे महाराज ने कहा कि अलग राज्य के लिए आंदोलन में भागीदारी बढ़ानी होगी। अलग राज्य से सभी का विकास होगा। प्रभावी ढंग से अपनी बात कहने और मनवाने का अधिकार सभी को है, जिसका पूरा इस्तेमाल किया जाएगा। बताते चलें कि ये पहला मौका नहीं है, जब बुंदेलखंड राज्य के लिए इस तरह के आंदोलन हो रहे हैं। पिछले कई दशक से अलग राज्य के लिए यहां जंग जारी है। कई बार ट्रेन तक रोकी जा चुकी है। वहीं, बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा के अध्यक्ष भानु सहाय ने कहा कि अलग राज्य के लिए इस तरह की भागीदारी जरूरी है।

Top