You are here
Home > Breaking News > परिजनों का हंगामा, शेखर अस्पताल में मरीज की मौत

परिजनों का हंगामा, शेखर अस्पताल में मरीज की मौत

लखनऊ। गाजीपुर थाना ऐरिया के इंदिरानगर स्थित शेखर अस्पताल अक्सर विवादों में रहता है। अक्सर इस अस्पताल की लापरवाहियों के चलते यह अस्पताल सुर्ख़ियों में बना रहता है। सूत्र बताते है कि सत्ताधारियो की सह पर चल रहे इस अस्पताल की कारगुजारियों पर अक्सर पर्दा डाल दिया जाता है। गुरुवार को भी जब एक 30 वर्षीय युवक की मौत शेखर अस्पताल की लापरवाही से हुई तो आक्रोशित परिजनो ने हंगामा कर दिया।

यहाँ टिकैतराय तालाब बाजारखाला निवासी मुकंदिलाल यादव ने बताया कि उनका तीस वर्षीय पुत्र आशीष यादव बीते चार दिनों से शेखर अस्पताल में डेंगू से पीड़ित होकर भर्ती था। मंगलवार को उसके प्लेटलेट्स में बढ़ोत्तरी हुई तो डॉक्टर्स ने उसे स्वस्थ करार देते हुए बुद्धवार को डिस्चार्ज करने की बात कही थी। बुद्धवार को अचानक न जाने कैसे आशीष की तबियत बिगड़ गई तो डॉक्टर्स ने बताया कि उसके फेफड़े में पानी भर गया है।

इसके बाद आशीष को आईसीयू में भर्ती कर दिया गया और डॉक्टर्स ने सांस न ले पाने की स्थिति में उसे ऑक्सीजन पर ले लिया। गुरुवार सुबह ऑक्सीजन ख़त्म होने पर थी तो आशीष के पिता मुकंदी ने नर्स से ऑक्सीजन बढ़ाने के लिए कहा इस पर नर्स ने ऑक्सीजन ख़त्म होने की बात कही और डॉक्टर्स के आने पर ऑक्सीजन लगाने की बात कहने लगी।

आशीष को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी और परिजन परेशान थे बावजूद इसके नर्स ने ऑक्सीजन नहीं दिया। आधा घंटे ऑक्सीजन न मिलने के चलते आशीष ने दम तोड़ दिया। आशीष की मौत होते ही परिवार पर कहर टूट पड़ा तो आक्रोशित परिजन हंगामा करने लगे और अस्पताल के मालिक डॉ सचान की गिरफ़्तारी की मांग पर अड़ गए। इस बीच आरोपी नर्स समेत स्टाफ के कई लोग भाग खड़े हुए और डॉक्टर भी नदारद हो गया। जानकारी पाकर पहुंची पुलिस ने पीड़ितों को कार्यवाही का आश्वासन देते हुए शांत कराया। पीड़ित पिता का आरोप है कि आशीष की डेढ़ वर्ष पेहले ही शादी हुई थी और उसकी पत्नी अमृता गर्भ से है ऐसे में उसकी मौत के बाद अमृता की जिंदगी ही बर्बाद हो गई है।

Top
%d bloggers like this: